Posts

Showing posts from October 2, 2018

घर वापसी (भाग ७ -"ये कैसी मोहब्बत है?")

Image
घर वापसी, भाग ७ -ये कैसी मोहब्बत है भाग- १ यहाँ पढ़ें https://www.loverhyme.com/2018/05/blog-post_99.html  भाग -२ यहां पढ़ें https://www.loverhyme.com/2018/05/blog-post_25.html भाग ३ यहां पढ़ें  https://www.loverhyme.com/2018/05/blog-post_72.html भाग ४ यहाँ पढ़ें https://www.loverhyme.com/2018/05/blog-post_27.html भाग ५ यहां पढ़ें https://www.loverhyme.com/2018/06/blog-post_13.html भाग ६ यहां पढ़ें  https://www.loverhyme.com/2018/07/blog-post_5.html नल के नीचे लगा घड़ा भर के छलक गया था... मेरे ध्यान न देने पर सब मेरा और कैलाश का मज़ाक उड़ाने लगे। मैं झल्लाते हुए घड़ा उठाने को आगे हुई ही थी, कि दो हाथों ने घड़ा बीच में ही अपनी तरफ खींच लिया। मेरे देखने से पहले ही वीना और बुलबुल ज़ोर ज़ोर से हँसने लगीं । "लो! ... अब ये ही बाकी रह गया था। ... जाओ दीदी चाय बना लाओ... कहो तो हम ही बना दें , तुम्हे तकल्लुफ  न हो तो...  " दोनों मुझे चिढ़ा रही थीं। हाँ इस आदमी ने तो मुझे यही खरीद रखा है, पता नहीं अम्मा जी को कितने हरे पत्ते बाँट आता है कि वो इसे इस तरह यहाँ