Posts

Showing posts from January 31, 2017

सांसें...

Image
मोहब्बत कितनी अजीब होती  है न.....  जब हम इसका इन्तज़ार करते हैं तो ये कोसो दूर भागती है..... और जब इससे रूठ के  चले जाओ, तो यही मोहब्बत .... इश्क़ आपको  डुबाने को ऐसा बेकरार होती है कि  क्या कहने....  सच में.... मैंने कभी नहीं सोचा था कि  मुझे भी इश्क़ होगा...  सोचा था  पहली मुलाक़ात  में ही सब कुछ बता दूंगी पर ...... पर उसको देखते ही मैं तो खुद को ही भूल गयी ..... वो एक घंटे की मुलाक़ात शायद मेरी ज़िन्दगी का सब से हसीन वक़्त था..... लेकिन  मेरी किस्मत इतनी अच्छी नहीं, कि उसका साथ मुझे उम्र भर के लिए मिले..... इसलिए आज मैं उसको मिल के सच बता दूंगी। ....." आयशा ! क्या कर रही हो यहाँ बैठे..... " वह आ चुका था।


" बस तुम्हारा  इंतज़ार था केतन ....कैसे हो?

"मैं तो ठीक हूँ मैडम, यहाँ क्यों बुलाया मिलने को।  पता है न, एक हफ्ते में हमारी शादी है। ....और माँ को पता चला तो बहुत डाँट  पड़ेगी....."
"जानती हूँ, पर सुनो...... देखो...... ", पसीने से मेरा माथा भीग चुका था। ..... और केतन अपने रुमाल से उसे पोंछ रहा था।

" जी मैडम, देख रहा हूँ, सुन भी रहा हूँ..... बात क्या…